दूरदर्शन यूट्यूब पर उपलब्ध है। दूरदर्शन के लिए URL www.youtube.com/DoordarshanNational है
दूरदर्शन केन्द्र दिल्ली में आपका स्वागत है








दूरदर्शन केंद्र, दिल्ली सर्वप्रथम प्रारंभ किए गए केंद्रों में से एक है, जिसे प्रायोगिक आधार पर 15 सितम्बर,1959 को शुरु किया गया था । इसकी शुरुआत नई दिल्ली स्थित आकाशवाणी भवन में आकाशवाणी की एक इकाई के रुप में कामचलाऊ स्टूडियो से की गई थी। शुरुआती दिनों में शिक्षा एवं विकास संबंधी कार्यक्रमों को 20 टी वी रिसीवरों के माध्यम से सप्ताह में दो बार दिल्ली एवं इसके आसपास के क्षेत्रों में प्रसारित किया जाता था । दैनिक प्रसारण का शुभारंभ नियमित रुप से वर्ष 1965 में किया गया । भारत सरकार द्वारा 1976 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत दूरदरर्शन का गठन, एक अलग विभाग के रुप में लोक सेवा प्रसारक के तौर पर किया गया । इसका प्रतीक चिह्न अंगारा, गोडवाना एवं समुद्र है जो पृथ्वी के अस्तित्व में आने की प्रक्रिया शुरु होने को इंगित करता है । यह आज भी इसका प्रतीक धुन है । वर्ष 1982 में दूरदर्शन के सभी क्षेत्रीय केंद्रों को INSAT IA द्वारा जोड़कर राष्ट्रीय कार्यक्रम की शुरुआत आकाशवाणी भवन के पांचवें तल से की गई । इसके उपरांत 1982 में एशियन गेम्स को दूरदर्शन, दिल्ली द्वारा कवर किया गया और यह पूरी प्रक्रिया आकाशवाणी भवन के पांचवें तल से ही शुरु हुई । इस चैनल की पहुँच बढ़ाने के लिए सरकार ने निम्न एवं उच्च शक्ति वाले ट्रासमीटरों की स्थापना की जिनके द्वारा उपग्रह से सिग्नल प्राप्त कर उनका अनुप्रसारण चारों ओर किया जाता था । सन् 1983 तक, टेलीविजन सिग्नलों की पहुँच 29% भारतीय जनता तक हो गई थी । चैनलों के व्यवसायीकरण एवं विज्ञापनों के माध्यम से बढती आय ने इसके विकास में उत्प्ररेक भूमिका निभाई और वर्ष 1990 तक इस चैनल की पहुँच 90% भारतीय जनता तक थी । अपनी स्थापना के प्रारंभिक वर्षों में, इस चैनल द्वारा मुख्यत: शैक्षिक ओर सूचनाप्रद कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाता था और समाचार इसका मुख्य आकर्षण था । वर्ष 1982 में नेशनल फीड की शुरुआत होने के बाद इस चैनल ने समय सहभागिता के आधार पर क्षेत्रीय एवं स्थानीय कार्यक्रमों का प्रसारण शुरु किया । अधिकांश राज्यों में एक-एक राष्ट्रीय एवं स्थानीय समाचार बुलेटिनों का प्रसारण होता था ।

जल्द ही इस केंद्र से मनोरंजक कार्यक्रमों का प्रसारण शुरु किया गया । इसने अपने पहले धारावाहिक ‘हम लोग’ फिल्मी गीतों पर आधारित कार्यक्रम ‘चित्रहार’ और हिंदी फिल्मों के प्रसारण से काफी लोकप्रियता अर्जित की । फलस्वरुप मनोरंजक एवं व्यवसायिक कार्यक्रमों के निर्माण में बढ़ोत्तरी हुई ।

डीडी-नेशनल पर सबसे पुराना कार्यक्रम रंगोली है जिसमें मुख्य रुप से हिंदी फिल्मी गीतों का प्रसारण किया जाता है । अस्सी के दशक के मध्य तक, इस केंद्र का प्रसारण सिर्फ सायंकालीन कार्यक्रमों तक ही सीमित था । 11 फरवरी, 1987 से इस चैनल में दो घंटे के प्रात:कालीन प्रसारण की शुरुआत की गई जिसमें दस-दस मिनट की अवधि के हिंदी एवं अंग्रेजी के समाचार बुलेटिन तथा लघु अवधि के कार्यक्रम प्रसारित कए जाते थे । 01 जनवरी, 1989 से दोपहर के प्रसारण की शुरुआत हुई जिसमें मुख्य रुप से गृहणियों एवं बच्चों की पसन्द के कार्यक्रम प्रसारित किए जाते थे । तब से दूरदर्शन केंद्र, दिल्ली की विकास-यात्रा निर्बाध रुप से जारी है ।